Aadhe Adhure Lakshya

“इंसान एक तरफ जहाँ बेहद साधारण है वहीं दूसरी तरफ बौद्धिकता से धधकता ज्वालामुखी “ “आधे अधूरे लक्ष्य किसी नतीजे पर नहीं पहुँचते हैं जो आत्मा के अंदर से निकलते हैं,वही लक्ष्य तक पहुंचाते हैं अगर लक्ष्य स्पष्ट हो और हौसले बुलंद हों तो मंजिल तक पहुंचना कठिन नहीं होता” “स्वागत करें इस नए पल […]

Dhoop Chaanv

“प्रश्न का उठना गीतशीलता है और गीतशीलता ही जीवन है जब स्टार्ट लेना होता है तब धूप या छांव नहीं देखी जाती” FROM THE EARTH TO THE MOON” “अतीत से सीख” “वर्तमान पर नजर”” “भविष्य के सपने”

Subeh Hone Se Pehle

“चेहरे पर ख़ुशी,आँखों में आंसू जैसे सावन की धूप में बारिश की बूंदे” “सुबह होने से पहले अंधेरा घाना हो जाता है जो यह जानते हैं उनके लिए यह सुसमाचार है” “आँखों में कुछ आंसू और कुछ सपने हैं ये आंसू और सपने दोनों ही अपने हैं”

Waqt Ke Saanche

“कुछ लोग होते हैं जो वक़्त के सांचे में ढल जाते हैं, कुछ विरले ही ऐसे होते हैं जो वक़्त के सांचे ही बदल जाते हैं” “जीवन में अचानक ऐसे पल आते हैं जब आप अपने आप को एक अनोखे मोड़ पर खड़ा पाते हैं” “YES ALL THIS IS YOUR AND MUCH MORE” “कार्य कभी […]

Dil Deewana

“दिल दीवाना हंसता है तो हंसने दो यारों कम्बख्त तन्हाई में रोया भी बहुत होगा “ “फ़रिश्ते भी आकर उनके जिस्मों में खुश्बू लगाते हैं जो संघर्ष और विसंगतियों से जूझते हुए जीवन में मंजिल पाते हैं” “चन्द दाने ढूंढ़ने बस्ती और वीराने गए हर सुबह परिन्दे घर से जिन्दगी को लाने गए”

Nayi Dishayein

“इन्सान अगर सफल होता है तो नई दिशायें खुलती हैं और उसकी भूमिका में विविधता आती है इसलिए परिस्तिथियों पर दबाव पर पकड़ बनाइये और बढ़त भी” “अगर आप विपरीत परिस्तिथियों से उबर कर अपने आप को सम्हाल न सके तो एक नियमित अन्तराल पर स्वाभाविक तौर पर कुछ न कुछ खोते चले जायेंगे और […]

Ek Yoddha

“धैर्य से हर लक्ष्य विजय अभी तो इब्तदा है इन्तहाँ की किसे खबर” “टकरा रहा है शीशा कुछ चुनिन्दा पत्थरों से क्या नतीजा लिखा जाएगा उन्हीं पुराने अक्षरों से” “जो संघर्ष से हारता है वो योद्धा नहीं कहलाता”

Dhara Ke Khilaf

“मैं तो तैर रहा हूँ कब से धारा के खिलाफ सांस लेने के बहाने पानी के बाहर सर निकालकर देखते हुए बादलों का रुख” “जहाज कागजी ताउम्र नहीं चलने का सम्हल जा अभी वक़्त है सम्हलने का” “जिसे जिन्दगी कहते हैं, राज है गहरा पतझड़ के साथ सावन दरिया के साथ सहारा”