Dil Deewana

“दिल दीवाना हंसता है
तो हंसने दो यारों
कम्बख्त तन्हाई में
रोया भी बहुत होगा “

“फ़रिश्ते भी आकर उनके जिस्मों में खुश्बू लगाते हैं
जो संघर्ष और विसंगतियों से जूझते हुए जीवन में मंजिल पाते हैं”

“चन्द दाने ढूंढ़ने बस्ती और वीराने गए
हर सुबह परिन्दे घर से जिन्दगी को लाने गए”

Leave a Reply

Name *
Email *
Website