Kamyabi Ki Talaash

“बेहतर से बेहतर तलाश करो , मिल जाये नदी तो समुन्द्र की तलाश करो| ज़िन्दगी हसीं है ज़िन्दगी से प्यार करो, हो रात तो सुबह का इंतज़ार करो|”

Chhat Se Chhatra Ki Ore

“पग डंडी से चलकर,आँगन तक आ गये, फिर आँगन से आगे बढे और पूरी छत पर छा गए| “

Ek Vikalp-Taalaab Ya Samundar

“पीछे हटना होता है एक विचार, सोचो आगे बढ़ने के मौके मिलते है हज़ार!” “जो रुका वो तालाब बन गया और जो बढ़ा वो समुन्द्र हो गया|”

Shabdon Ka Chunav

“”शब्दों का चुनाव,लहजे की खनक और पवित्र आचरण, जब एक ही माला के मोती बन जाए, तो इबादत का मन हो ही जाता है|”

Yatra- Ek Zindagi Ek Maut

“लाखों खड़े थे कतार में मौत मांगने वाले” “उसी कतार में देखा तो ज़िन्दगी भी थी|”

Kad Ki Naap

“कद मेरा नापने की कोशिश में आसमां है,” “ज़िन्दगी से छोटा हूँ पर मौत से बड़ा हूँ|”

Man Se Bagawat

“अगर कश्ती का लंगर टूटता है तो लश्कर का लश्कर छूटता है” “बगावत हो अगर अपने ही मन से  तो दारा क्या सिकंदर भी टूटता है”||

Swayam Ka Parichay

मैं ही हूँ जो काल के वेग से हांफता हूँ , मैं ही हूँ जो सच से कांपता हूँ || मैं ही हूँ जो संकट को भांपता हूँ , और वही मैं हूँ जो अपने धैर्य को नापता हूँ|