Ek Ajeeb Gutthi

“मनुष्य का मन भी एक अजीब गुत्थी है बदलना चाहे तो एक पल भी बहुमूल्य है और न बदलना चाहें तो शायद वर्षों का समय भी कम है”

एक नया इतिहास

“अपनी जमीं अपना आकाश पैदा कर अपना एक नया इतिहास पैदा कर मांगने से ज़िन्दगी कहाँ मिलती है दोस्त अपना एक नया विश्वास पैदा कर”